NIT में छात्रा से रेप की कोशिश के बाद बढ़ाई गई की सुरक्षा!!

पटना: पटना के इंजीनियरिंग कॉलेज की सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NIT) के गर्ल्स होस्टल में रहने वाली छात्रा के साथ रेप की नीयत से अपहरण करने की कोशिश के बाद कॉलेज की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई गई है। वहीं पटना पुलिस इस वारदात को गंभीरता से लेते हुए मामले की छानबीन में लगी है।

जानकारी के मुताबिक पुलिस ने इस मामले में तीन लोगों को हिरासत में भी लिया है। असल में शनिवार की रात करीब 8 बजे एनआईटी मे काम कर रहे एक मजदूर ने कॉलेज के हॉस्टल में रह रही एक छात्रा को रेप की नीयत से अपहरण करने की कोशिश की थी। ये वाकया उस वक्त हुआ जब छात्रा चौथी मंजिल के सीढ़ी पर बैठकर फोन पर किसी से बात कर रही थी। लड़की को अकेले देख मजदूर की नीयत में खोट पैदा हुआ और उसने लड़की को पीछे से जाकर धर दबोचा। लड़की के मुंह पर कपड़ा रखकर वह नीचे लाने लगा। इस क्रम में लड़की ने खुद को छुड़ाने की बहुत कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो पाई।

  • ‘शॉर्ट्स पहनकर घूमोगी तो ऐसा ही होगा’- एनआईटी अधिकारी
  • पुलिस ने तीन को हिरासत में लिया

इसी बीच हॉस्टल में रह रही दूसरी छात्रा की नजर मजदूर और उसके चंगुल में फंसी अपनी सहेली पर पड़ी। फिर क्या था उसने शोर मचाना शुरू कर दिया। आवाज सुनकर वह मजदूर लड़की छोड़ भाग गया। इस शर्मनाक वारदात की खबर पूरे कैम्पस में आग की तरह फैल गई। जिसके बाद कॉलेज में छात्र-छात्राओं ने सुरक्षा को लेकर जमकर बवाल काटा।

मौके पर पहुंचे एनआईटी के एक अधिकारी के बेतुका बयान से मामला और भड़क गया और गुस्साए छात्र ने पथराव शुरू कर दिया। एनआईटी के अधिकारी ने अपने बयान में कहा था, कि शार्ट्स पहनकर घूमोगी तो ऐसा ही होगा। एनआईटी के गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं का कहना है कि सुरक्षा के नाम पर वहां कोई व्यवस्था नहीं है। हॉस्टल में ना तो वार्डन हैं और ना ही कोई कर्मचारी।

पटना के एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि छात्रा से अश्लील हरकत करने के मामले में मजदूर के खिलाफ मामल दर्ज करते हुए तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। एनआईटी के निदेशक अशोक डे ने कहा कि 31 अगस्त को नए भवन का उद्घाटन होना है। इसके लिए भवन की रंग-रौगन का काम चल रहा है। इस काम में लगे मजदूर हॉस्टल के नीचे रहते थे।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *