पूरी दुनिया देखेगी 26 जनवरी को Kanpur Ordnance Factory और Field Gun Factory में तैयार Dhanush का जलवा !!!

New Delhi:  देश के पहले स्वदेशी टैंक Dhanush की एक और उपलब्धि. Kanpur Ordnance Factory और Field Gun Factory में तैयार Dhanush को पहली बार दुनिया देखेगी. थलसेना का हिस्सा बनने जा रहे Dhanush के दो टैंक Republic day  पर राजपथ पर अपने शौर्य का प्रदर्शन करेंगे. Dhanush के शामिल होने से थलसेना की ताकत दुनिया के किसी भी देश के समकक्ष हो गई है.

इस बारे में OFC के वरिष्ठ महाप्रबंधक नरेंद्र कुमार ने बताया कि टैंक का दीदार दुनिया कर सके इसलिए 26 जनवरी की परेड में धनुष को शामिल किया गया है. अभी तक नौ धनुष सेना को सौंपे जा चुके हैं। इस साल 17 Dhanush का ऑर्डर दिया गया है. फरवरी से काम शुरू हो जाएगा। सेना को फिलहाल 474 Dhanush की जरूरत है. जिसे बोफोर्स से रीप्लेस किया जाएगा. बड़े स्तर पर उत्पादन के लिए जल्द OFC को बल्क प्रोडक्शन क्लीयरेंस मिल जाएग. जिसके बाद धनुष निर्माण की रफ्तार में तेजी आएगी.

  • पांच तापमान में परखने के बाद स्वीकार किया धनुष
  • 90 फीसदी स्वदेशी पुर्जों से तैयार
  • Kanpur Ordnance Factory और Field Gun Factory में तैयार हुई है Dhanush

Dhanush को बोफोर्स का स्थान देने से पहले सेना ने इसे देश में पांच विभिन्न तापमान वाले स्थानों पर महीनों परखा है. इटारसी, पोखरण, सिक्किम, लद्दाख और बालासोर में एक साल से परीक्षण चल रहा था. एक तरफ राजस्थान में 48 डिग्री सेल्सियस तापमान में धनुष खरा उतरा है तो दूसरी तरफ लद्दाख में माइनस 12 डिग्री तापमान में भी अपनी ताकत दिखाई. लद्दाख में परीक्षण के लिए ओएफसी ने सेना को तीन तोपें दी थीं.

खास बात ये है कि ‘धनुष देश की पहली तोप हैं जिसमें 90 फीसदी कलपुर्जे भारत में बने हैं. सिर्फ दस फीसदी कलपुर्जे बीईएल (भारत इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड) के जरिए आयात किए जाते हैं. इन हिस्सों को भी स्वदेश में तैयार करने का काम चल रहा है। सेना को इसे सौंपने से पहले इससे 3500 राउंड फायर किए गए.

दुनिया की शीर्ष पांच तोपों में शामिल-

-बोफोर्स बीओ-5 (स्वीडन)

-एम 46-एस (इजरायल)

-जीसी 45 (कनाडा)

-नेक्सटर (फ्रांस)

-धनुष (भारत)




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *