कमर दर्द में लाभदायक है होमियोपैथी इलाज

आज के दौर में कमर और पीठ दर्द एक आम समस्या हो गई है। पीठ दर्द स्पाइनल कॉर्ड में उठने वाले दर्द को कहते हैं। पीठ दर्द कई प्रकार के होते हैं – कम दर्द, तेज़ दर्द, और कभी कभी तो ऐसा दर्द भी होता है कि डॉक्टर के पास जाना ही आखरी विकल्प होता है। पीठ दर्द यदि किसी दुर्घटना के बाद हो, तो वह आजीवन समस्या बन सकता है और रह-रह घर यह दर्द उठता रहता है।back-pain-relief

कमर दर्द अक्सर उन लोगों में होता है जो ज़्यादा फिजिकल वर्क करते हैं। ज़्यादातर मामलों में कमर दर्द के कारण का पता लगा पाना कठिन हो सकता है। कमर दर्द का कारण स्लिप डिस्क, ऑस्टियोपोरोसिस (भंगुर हड्डियां), विरूपण के अलावा, बैठने के गलत तरीके से होने वाली मांसपेशियों में खिंचाव भी हो सकता है। प्रेगनेंसी में भी कई बार कमर और पीठ दर्द होता है।

झुकने से, और वज़न उठाने से पीठ के निचले हिस्से में दर्द बढ़ जाता है। गलत ढंग से सोने या बैठने से सर्वाइकल दर्द बढ़ जाता है। इसके अलावा, मनोविज्ञानिक बोझ की वजह से सर्विकल दर्द बढ़ सकता है। आज कल स्लिप डिस्क इतना बढ़ गया है कि नौजवान लोगों में भी यह पाया जा सकता है। इन दर्द से कैसे बचा जाए और किस तरह का इलाज है बेहतर। आईये बताते है Dr Pankaj Aggarwal, Senior Homeopath, Agrawal Homo Clinic, के द्वारा कुछ बेहतरीन इलाज, कि कैसे जाने अपने दर्द को और कैसे करे देखभाल:-

o-BACK-PAINइसके कुछ लक्षण और इलाज़ कुछ इस तरह हैं:-

लक्षण:- सुबह और ठण्ड के मौसम के पीठ में अकड़न। कूल्हों, जांघों और पैर में दर्द। पैरों में अकड़न।

इलाज़:-

इस समस्या का कोई स्पेसिफिक इलाज़ तो नहीं है, लेकिन होमियोपैथी में इस समस्या का काफी प्रभावी इलाज है। होमियोपैथी न सिर्फ इस समस्या पर नियंत्रण लाती है, बल्कि इसे ठीक भी करती है।

  1. यदि इस समस्या से पूरी तरह निजात पाना चाहते हैं तो अपनी भावनाओं को व्यक्त करें। भावनाओं को अंदर ही अंदर दबाये रखने से यह आपके शरीर में बीमारी का रूप लेकर बैठ जाती है।
  2. होमियोपैथी में ऐसी दवाइयाँ हैं जो ऐसी भावनाओं के बुरे प्रभाव को कम करती हैं।
  3. होमियोपैथी से इलाज़ करने के बाद लम्बे समय तक यह बीमारी आपके आसपास भी नहीं भटकती।

होमियोपैथी में हम सिर्फ बीमारी ही नहीं, बल्कि बीमारी की जड़ को भी दूर करते हैं। ऐसे में होमियोपैथी अत्यधिक प्रभावी और हानिरहित होती है। इस बीमारी को दूर करने के लिए ४०० से ज़्यादा दवाइयाँ है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *