500 के पुराने नोट आएंगे Farmers के काम, खरीद सकेंगे Seed

New Delhi : Finance Ministry ने Farmers को एक और बड़ी राहत देते हुए कहा है कि Farmer पुराने 500 रुपये के नोट से भी खेती के लिए Seed खरीद सकते हैं। Farmer Seed किसी भी केंद्र या राज्‍य सरकार द्वारा संचालित Centers  से खरीद सकते हैं। इसके लिए Farmer को अपना Identity card दिखाना होगा। Finance Ministry की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि Farmer केंद्र या राज्य सरकारों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों, राष्ट्रीय या राज्य Seed निगमों, केन्द्रीय या राज्य कृषि विश्वविद्यालयों और भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद से संबंधित दुकानों से 500 रुपये के पुराने नोट देकर Seed खरीद सकते हैं।

बाकी लोगों को भी राहत देते हुए सरकार ने Overdraft, Current या Cash Credit Account से भी एक सप्‍ताह में 50,000 रुपये तक निकासी की सुविधा दे दी है। ये सुविधा केवल उन्‍हीं को मिलेगी जो उन खातों से पिछले तीन महीने या उससे अधिक समय से लेन-देन कर रहे हैं। यह सुविधा Personnel Overdraft वाले खाताधारकों के लिए नहीं है।

रबी की बुवाई के मौसम को ध्‍यान में रखते हुए सरकार ने 17 नवंबर को Farmers की निकास Limit को बढ़ाकर 25000 रुपये कर दिया था। इसके साथ ही Farmer अपने Farmer क्रेडिट कार्ड से भी 25000 रुपये तक एक बार में निकासी कर सकते हैं। आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास ने बताया था कि Farmer अब बैंकों से सप्ताह में 50,000 रुपये तक की नकदी निकाल सकेंगे। सरकार ने Farmers को उनके बैंक खाते में पहुंचे फसली ऋण से हर सप्ताह 25,000 रुपये तक निकालने की अनुमति दी है। यह Limit Farmer क्रेडिट कार्ड पर भी लागू है।

इसके अलावा यदि Farmers को चेक अथवा RTGS के जरिये उनके बैंक खाते में भुगतान मिलता है तो वह प्रति सप्ताह 25,000 रुपये तक की अतिरिक्त राशि निकाल सकेंगे। दास ने कहा कि ये खाते संबंधित Farmer के नाम पर होने चाहिये और सभी खाते ‘अपने ग्राहक को जानो’ यानी केवाईसी नियमों के अनुरुप होने चाहिये।

PM नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर की मध्यरात्रि से 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को चलन से बाहर किये जाने की घोषणा की थी। इसे उन्होंने कालेधन, आतंकवाद को वित्तपोषण और नकली नोटों के खिलाफ जंग बताया था। इस घोषणा के बाद से लोग नकदी की समस्या से जूझ रहे हैं और Farmers को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *