Team India को अपने घर में मिली दूसरी सबसे बड़ी हार!!!

New Delhi/Pune: Australia के खिलाफ Pune टेस्ट में India को 333 रन से मात मिली. रन के लिहाज से Team India की अपने घर पर दूसरी सबसे बड़ी हार है. इससे पहले 2004 में Australia ने India को नागपुर में 342 रनों से हराया था. India की टेस्ट क्रिकेट में यह चौथी सबसे बड़ी हार है.

दूसरी पारी में कप्तान विराट कोहली के बड़े विकेट समेत 6 विकेटों के साथ मैच में 12 विकेट चटकाने वाले स्टीव ओकीफ के रिकॉर्ड प्रदर्शन की मदद से ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पुणे में खेले जा रहे पहले टेस्ट मुकाबले को 333 रनों से जीत लिया. ऑस्ट्रेलिया से मिले 441 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम पहली पारी की तरह ही दूसरी पारी में भी महज़ 107 रन जोड़ सकी और 34 ओवरों में ऑल-आउट हो गई. घरेलू मैदान पर 13 साल बाद India को Australia के हाथों हार मिली है.

लंच के बाद दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम स्टीव ओकीफ और नेथन लायन के आगे भारतीय पिचों पर बुरी तरह से असफल साबित हुई. लंच के बाद मुरली विजय से शुरू हुआ विकेट गिरने का सिलसिला महज़ 107 रनों पर जाकर थम गया.
दूसरी पारी में स्टीव ओकीफ ने एक बार फिर 6 विकेट चटकाते हुए मेजबान टीम को पहले टेस्ट में तीसरे दिन ही करारी शिक्सत दे दी. स्टीव ओकीफ ने 6 जबकि नेथन लायन ने दूसरी पारी में 4 विकेट चटकाए.

इससे पहले कप्तान स्टीवन स्मिथ (109) की शानदार शतकीय पारी की बदौलत आस्ट्रेलिया ने भारत के सामने 441 रनों का विशाल लक्ष्य रखा था. आस्ट्रेलिया ने अपनी दूसरी पारी में सभी विकेट गंवाकर 285 रन बनाते हुए भारत पर 440 रनों की विशाल बढ़त के साथ भारत को यह लक्ष्य दिया था. स्टीव ओकीफ (6) के रूप में आस्ट्रेलिया का आखिरी विकेट गिरा और इसी के साथ भोजनकाल की घोषणा कर दी गई. जोस हेजलवुड दो रन बनाकर नाबाद लौटे.

आस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 260 रन बनाए थे और भारत को पहली पारी में 105 रनों पर ही ढेर करते हुए पहली पारी के आधार पर 155 रनों की बढ़त ले ली थी. यह आस्ट्रेलिया द्वारा भारत में भारत के खिलाफ रखा गया तीसरा सबसे बड़ा लक्ष्य है.
स्मिथ ने बल्लेबाजों के लिए मुसीबत बनी इस पिच पर भारतीय स्पिन तिकड़ी रविचंद्रन अश्विन, रवींद्र जडेजा और जयंत यादव का अच्छे से सामने किया और अपनी टीम को बेहद मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया. उन्होंने अपनी पारी में 202 गेंदें खेलते हुए 11 चौके लगाए. वह जडेजा की गेंद पर 246 के कुल स्कोर पर पगबाधा करार दे दिए गए. यह उनका भारत के खिलाफ लगातार पांचवां शतक है. 2014-15 में खेली गई चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में स्मिथ ने चारों मैचों में शतक जड़े थे.

स्मिथ के जाने से पहले आस्ट्रेलियाई टीम ने मिशेल मार्श (31) और मैथ्यू वेड (20) के रूप में दो और विकेट खो दिए थे. अपने दूसरे दिन के स्कोर चार विकेट पर 143 रनों से आग खेलने उतरी मेहमान टीम को दिन का पहला झटका मिशेल के रूप में लगा. वह 169 के कुल स्कोर पर जडेजा की गेंद पर विकेट के पीछे रिद्धिमान साहा के हाथों लपके गए.

वेड ने स्मिथ के साथ मिलकर टीम का स्कोर 204 तक पहुंचाया. इसी स्कोर पर वेड, उमेश यादव का शिकार बने. स्मिथ को जडेजा ने आउट कर आस्ट्रेलिया को दिन का तीसरा और पारी का सातवां झटका दिया.
पहली पारी में अंत में आस्ट्रेलिया को बचाने वाले मिशेल स्टार्क ने 30 रनों का अहम योगदान दिया. वह 258 के कुल स्कोर पर अश्विन का शिकार बने.

लॉयन के पैर विकेट पर जम ही रहे थे तभी यादव ने उन्हें पगबाधा कर आस्ट्रेलिया को नौवां झटका दिया. ओकीफ को जडेजा ने आउट कर आस्ट्रेलिया की पारी का अंत किया. इससे पहले आस्ट्रेलिया ने ओकीफ के छह विकेटों की मदद से भारत को पहली पारी में 105 रनों पर ढेर करते हुए पहली पारी के आधार पर 155 रनों की बढ़त ले ली थी. भारत की तरफ से लोकेश राहुल ही 64 रनों का सर्वाधिक योगदान दे पाए थे. आस्ट्रेलिया ने मेट रेनशॉ (68) और स्टार्क (61) की मदद से अपनी पहली पारी में 260 रन बनाए थे.




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *