Alcohol Ban होने से बिहार प्रगति पथ पर चल पडा है : CM नीतीश

Darbhanga : Chief Minister Nitish Kumar ने कहा कि सभी लोग Alcohol Ban के समर्थन में हैं। सिर्फ मुट्ठी भर पढ़े-लिखे लोग Alcohol Ban व इसके कानून को लेकर अपना विरोध जता रहे हैं। लेकिन, उन्हें समझना होगा कि State को विकसित बनाने के लिए Alcohol Ban आवश्यक है। चीन में अफीम का बड़ा दौर था। जब वहां के लोग अफीम से ऊपर उठे, तभी चीन शक्तिशाली व विकसित राष्ट्र के रूप में खड़ा हो सका। Chief Minister गुरुवार को नेहरू स्टेडियम में चेतना सभा को संबोधित कर रहे थे।

Nishchay Yatra के दूसरे चरण के तहत यहां पहुंचे Chief Minister ने कहा कि Alcohol Ban के बाद सूबे का वातावरण बदला है। जिस घर में रोज विवाद हुआ करता था, नशे की हालत में लोग घर पहुंचते थे। आज वहां का माहौल काफी शांत है। जिन हाथों में शराब की बोतलें हुआ करती थीं, उनमें अब सब्जी के थैले होते हैं। उन्होंने कहा कि कानून की अपनी सीमा है, इसलिए इस मुद्दे पर जन जागृति व जन सहयोग आवश्यक है। जन चेतना से ही इसे सफलता मिल सकती है। सरकार अपना काम कर रही है। लोगों को जागरूक और सचेत रहने की अपील करते हुए Chief Minister ने कहा कि कहीं भी Alcohol Ban को लेकर गड़बड़ी नजर आये, तो तुरंत सूचना दें। गांव की सभी महिलाएं एकजुट होकर नशे के आदी के पास जाएं, उन्हें समझाएं और नहीं मानें, तो नशामुक्ति केंद्र में भरती कराएं, हम उनका पूरा इलाज कर देंगे।

अपनी Nishchay Yatra के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए CM ने कहा कि मेरी शुरू से आदत रही है कि अपनी योजना को पूर्ण रूप से धरातल पर उतारने के लिए खुद नजर रखूं। जमीन पर योजना कैसी चल रही है, कठिनाई तो नहीं है, इसी को लेकर इस यात्रा पर निकला हूं। इस यात्रा से नयी दृष्टि भी मिली है, तो नयी ऊर्जा का भी संचार हुआ है। चुनाव पूर्व घोषणा पत्र में हमने सात सूत्र नहीं, सात निश्चयों की बात कही। इसमें गांव की गरीब जनता से लेकर बेरोजगार, नौजवान और महिलाओं के समग्र विकास का खाका खींचा गया है। इस पर अमल आरंभ हो गया है।  उन्होंने पुलिस भरती में पहले से ही महिलाओं को 35% आरक्षण दिया जा रहा है। अब बिहार की किसी भी सरकारी नियुक्ति में महिलाओं के लिए 35% सीटें आरक्षित कर दी गयी हैं। हर घर नल का जल, हर गली पक्की व पक्का नाला, हर घर बिजली पर काम आरंभ हो गया है। पैसे की कहीं कोई कमी नहीं है। इसके लिए हमने अलग से फंड बना दिया है।

बिहार की सबसे बड़ी पूंजी युवा हैं। मेधा रहने के बावजूद अवसर नहीं मिल पाता। 12वीं के बाद 13% बच्चे ही आगे की पढ़ाई करते हैं। ऐसे बच्चों के लिए चार लाख रुपये तक का क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराया जायेगा। इसके लिए सरकार ने बैंकों को गारंटी दी है। जिले में कार्यालय खुल चुका है। आप उसमें अपना आवेदन दें। बैंक से कार्ड मिलेगा। 20 से 25 वर्ष के नौजवानों को रोजगार की तलाश के लिए दो वर्ष तक एक हजार का स्वयं सहायता भत्ता दिया जायेगा। कौशल व्यवहार केंद्र में उन्हें कंप्यूटर, अंगरेजी के साथ ही व्यक्तित्व विकास की शिक्षा दी जायेगी। वादे के अनुरूप हमने काम शुरू कर दिया है। आप सभी उसका लाभ उठाएं। अपना जीवन बेहतर करें। जब आपका जीवन बेहतर होगा, तभी सूबे की सूरत बेहतर होगी।  Chief Minister ने कहा कि बिहार की पुरानी मानव सभ्यता रही है। गौरवपूर्ण इतिहास रहा है। सद्भाव के माहौल को बरकरार रख कर हम फिर से बिहार को प्राचीन गौरवशाली मुकाम पर निश्चित रूप से पहुंचायेंगे। इसके लिए जन सहयोग व जन जागृति जरूरी है।

Alcohal Ban के बाद राजस्व में आयी गिरावट के मुद्दे पर नीतीश कुमार ने कहा कि एक राह बंद हुई, तो कई नये रास्ते खुल गये। सुधा डेयरी का आंकड़ा रखते हुए कहा कि पिछले सात महीने में दूध की बिक्री में 11% वृद्धि हुई है। रसगुल्ला का कारोबार 16.7%, पेड़ा 15.5%, गुलाब जामुन 15.24% बढ़ा। इसी तरह प्लास्टिक निर्मित सामग्री से 65%, होजियरी रेडिमेड से 44%, उपकस्कर फर्निचर से 20% टैक्स का इजाफा हुआ है।  ऐसा इसलिए संभव हो पाया क्‍योंकि लोगों ने अपनी सोच बदली है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *